HomeHealth

Hichki क्या है ! क्यों आती है हिचकी ! Best Home Remedies For Hiccups ! हिचकी रोकने के उपाय कौनसे है पूरी जानकारी.

Like Tweet Pin it Share Share Email

हमे लगता है हमारे सभी पाठको तथा दुसरे नए पाठक सभी को Hichki Rog के बारे मे पता होगा. हिचकी कभी साधारण रोग हो सकती लेकिन ज्यादा समय तक यह रहे तो यह बेहद खतरनाक साबीत हो सकती है. हिचकी रोग मे रोगी को झटके आते है वैसे तो इस रोग को अत्यंत साधारण समझा जाता है,पर यह एक खतरनाक प्राणलेवा रोग है. इससे श्वास क्रिया ब्लॉक हो जाती है और हृदय पर झटके लगते है जीससे मृत्यु होने का भी भय रहता है.Hichki Rokne Ke Upay In Hindi

Hichki को अंग्रेजी मे Hiccough भी कहते है. अगर आपके आस पास या आपके घर मे एसा कोई रोगी दिखाई दे जिसे हमेशा इस तरह की प्रॉब्लम होती रहती है तो उन्हें Hiccough Treatment करा लेना चाहिए. आज हम इस पोस्ट मे आपको Hichki Treatment के Desi Totkay के बारे मे बताएँगे जो इस तरह के रोगी को ठीक कर सकते है.

> जरुर पढ़े – आँखों की बीमारियों का घरेलु उपाय ! आंखों के विभिन्न रोगों का इलाज.

हिचकी आने के क्या कारण होते है? क्यों आती है Hichki.

हिचकी का कारण कुछ भी हो सकता है जो निचे दिए गए है. लगातार हिचकी आना और बार बार आना यह बेहद बड़ी समस्या धारण कर सकती है इसपर नजर बनाये रखे. Hiccough आने के लक्षण अलग-अलग प्रकार के हो सकते है जो निचे दिए गए है.

  • Medicines के साइड इफेक्ट्स.
  • जल्दी-जल्दी भोजन निगलना या तेल मसालेदार भोजन का ज्यादा सेवन करना.
  • ज़्यादा खाने से या अल्कोहल का सेवन.
  • जोर-ज़ोर से टहाके मारकर हंसना.
  • चिंता, तनाव या ग़ुस्से की वजह से भी Hichki आ सकती है.
  • हानिकारक धुआं आदि.
  • ब्रेन ट्युमर या कोई पुरानी बीमारी की वजह से.
  • Blood की कमी की वजह से, अती रक्तस्राव की वजह से,
  • Gastric Problem की वजह से.

Home Remedies For Hiccups ! तुरंत हिचकी रोकने के उपाय.

सबसे पहले हम आपको खबरदार करना चाहेंगे की कोई भी घरेलु उपचार करने के अलावा आप समय-समय पर आपके डॉक्टर्स से सलाह जरुर लेते रहे क्योकि कोई भी गंभीर रोग जकड ले तो उसे ठीक कर पाने मे समय जरुर लगता है. तो चलिए जानते है Hichki Rokane Ke Upay के बारे मे.Hichki Kyo Aati Hai, Kaise Roke Hichaki Ko

  1. हिचकी शान्त करने के लिए हिचकी की दवा के रूप मे चिलम में तम्बाकू की तरह रखकर मैनसील का धुआं पीना चाहिये.
  2. कभी कभी आने वाली हिचकी या साधारण Hichaki होने पर 2 ग्लास पानी पिने से भी आराम मिल जाता है.
  3. खाली शहद चाटने से भी Hichki रोग में आराम होता हैं।
  4. शहद व काला नमक मिलाकर बिजौरे का रस पीने से भी हिचकी दूर होती हैं.
  5. उड़द् का बारीक़ चूर्ण लेकर, बिना धुएं के अंगारों पर डालकर चिलम में रखकर तम्बाकू की तरह धुंवा पिने से Hichki अवश्य ख़त्म होती है.
  6. बकरी के दूध में 6 ग्राम सौंठ डालकर औटाये फिर उस दूध के रोगी को पिलाये उससे Hiccups शांत हो जाती है.
  7. मोर के पंख को जलाकर उसकि राख कर ले, फिर 2-3 ग्राम राख शहद में मिलाकर चाटे.
  8. बिजौरे के रस में सेंधा नमक मिलाकर चाटने से भी हिचकी ख़त्म होती है.
  9. ग्वारपाठे के रस में सौंठ का चूर्ण मिलाकर पिते ही Hichki Stop हो जाती है.
  10. बिना धुएं के अंगारे पर हल्दी व् उड़द का चूर्ण डालकर धुवा पिने से हिचकी दूर होती है.
  11. खांड में सौंठ मिलाकर नस्य देने से भी यह रोग दूर होता है.
  12. हिंग की धूनी देने से Hiccups बंद होती है.
  13. ग्राम गिलोय का सत्व शहद के साथ चाटने से भी रुक जाती है.
  14. सौंठ को गुड़ में मिलाकर खाने से या 2 ग्राम सौंठ, 6 ग्राम गुड़ मिलाकर नस्य देने से हिचकी शांत होती है
  15. घोड़े की सूखी लीद का धुवा लेने से Hichki ख़त्म हो जाती है.
  16. पेट के ऊपर मामूली तेल लगाकर,गरम पानी से सेंक करे,कान बंद करके ऊपर कपडा लपेटकर सेंक करे लाभ होगा.
  17. बिजौरा नींबू का रस 25 मिलीमीटर में 3 ग्राम साम्भर मिलाकर पिलाने से आराम मिलता है.
  18. पोटेशियम परमैगनेट 60 मिलीग्राम को जल में घोल सूंघने से अत्यधिक छींके आने लगती है,जिससे छींक की और रोगी का ध्यान चला जाता है और Hiccups स्वतः ही बंद हो जाती है.
  19. हालम 12 ग्राम को साबूदाना की तरह पकाकर खाये.इससे हिचकी जल्दी ही बंद हो जाती है
  20. सौंठ 5 ग्राम,पीपल 5 ग्राम,आमला 5 ग्राम तथा मिश्री 15 ग्राम को खूब कूट-छानकर महीन चूर्ण बना ले.3 ग्राम शहद में 3 ग्राम चूर्ण मिलाकर रोगी को चटाने से इसमें आराम मिलता है.
  21. मोर के पंख के चांदो को जलाकर भस्म बना ले यह भस्म 250 मिलीग्राम और पीपल का चूर्ण 125 मिलीग्राम इच्छीत शहद में मिलाकर चाटने से आराम आ जाता है
  22. सुहागे का लावा 5 ग्राम, वंशलोचन 5 ग्राम,छोटी इलायची के बीज 5 ग्राम,मुलहटी का चूर्ण 5 ग्राम चारो औषधियों को 20 ग्राम शहद के साथ मिलाकर चाटने से Hichaki में लाभ हो जाता है.
  23. छोटी पीपल 10 ग्राम को खूब कूट छानकर चूर्ण बना ले. फिर उसे 20 ग्राम शहद में मिलाकर चाटने से में आराम आ जाता है.
  24. मुलेठी को शहद में मिलाकर सुंघाने,पीपल के चूर्ण को चीनी में मिलाकर सुंघाने, सौंठ को गुड़ में मिलाकर नस्य देने,जरा से पानी मे जरा सा सेंधा नमक घोटकर नस्य देने एवं नाक में हींग की धूनी देने से, किसी न किसी उपाय से Hichki को अवश्य आराम हो जाता है.

> जरुर पढ़े – आज की वास्तविकता “Today’s Reality” जिसे पढ़कर आप सोच मे पढ़ जायेंगे.
> जरुर पढ़े –सर्दी-जुकाम के घरेलु उपाय ! आंखों के विभिन्न रोगों का इलाज जाने.
> जरुर पढ़े – 12 Health Tips In Hindi जिन्हें आपको अवश्य पढ़ने चाहिए.
> जरुर पढ़े – Top 10 Self Care Tips जानिए हिंदी मे. Self Care कैसे करना करनी चाहिए.

इस प्रकार से आप हमारे इन Hichki Rokne Ke Nuskhe से घर बैठे हिचकी रोग मे आराम पा सकते है.  आशा करते है हमारे यह हिचकी दूर भागने के रामबाण उपाय आपके लिए वरदान साबित हो. How To Prevent Hiccough Disease जैसे ही Best Health Tips आप डेली पढ़ सकते है अगर आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करते है. अपने परिवार और मित्रो के साथ इसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करे और लोगो को रोगों से बचाने मे अपना योगदान दे.

***********

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: